प्रतिक्रियासंपर्क

पेट्रोल

हिन्दी
Image: 

पेट्रोल या गैसोलीन को तकनीकी शब्‍दों में मोटर स्पिरिट (ऑटोमोटिव गैसोलीन) कहा जाता है । यह 500 से अधिक हाइड्रोकार्बनों का मिश्रण है । इसमें एल्‍केन साइक्लिक एवं एरोमेटिक कंपाउंड की मात्रा कम होती है ।

गैसोलीन का निर्माण कच्‍चे तेल के फ्रेक्‍शलन डिस्‍टीलेशन इसकी ऑक्‍टेन रेटिंग बढ़ाने के लिए और अधिक उपचार के साथ किया जाता है ।

पेट्रोल की ऑक्‍टेन संख्‍या, उसकी नॉकिंग प्रतिरोध क्षमता का माप है। ऑक्‍टेन की संख्‍या गैसोलीन की विशेषताओं की आईसो – ऑक्‍टेन के साथ तुलना द्वारा निर्धारित की जाती है । आइसोऑक्‍टेन को 100 की ऑक्‍टेन संख्‍या दी जाती है । यह बेहद विस्‍तृत कंपाउंड है जो हल्‍की सी नॉकिंग में भी सुचारू रूप से जलता है। दूसरी ओर एन-हेपटेन, सीधी श्रृंखला है, अनब्रांच्‍ड मोलेक्‍यूल इसकी खराब नॉकिंग के कारण शून्‍य ऑक्‍टेन रेटिंग दी जाती है ।

स्‍ट्रेट – रन गैसोलीन (रिफाइनरी डिस्‍टीलेशन कॉलम से सीधे) की ऑक्‍टेन संख्‍या लगभग 70 होती है। अन्‍य शब्‍दों में स्‍ट्रेट रन गैसोलीन की नॉकिंग विशेषताएं, 70% आइसो-ऑक्‍टेन और 30% एन हेप्‍टेन से मिश्रण के समान ही हैं। इनमें से कई कंपाउंड स्‍ट्रेट चेन एल्‍केन्‍स है। क्रॅकिंग, इसामराइजेशन और अन्‍य रिफाइनिंग प्रक्रियाओं का प्रयोग गैसोलीन के ऑक्‍टेन रेटिंग को न्‍यूनतम 91 करने के लिए किया जाता है। ऑक्‍टेन रेटिंग को और अधिक बढ़ाने के लिए एंटी नॉकिंग एजेन्‍ट्स का भी प्रयोग किया जाता है।

अधिकतर वाहनों में, जब तक वे उच्‍चतर ऑक्‍टेन गैसोलीन का प्रयोग करने के लिए नहीं कहते, भारत में उपलब्‍ध 91 ऑक्‍टेन की न्‍यूनतम श्रेणी का पेट्रोल प्रयोग करते हैं। ऐसा जरूरी नहीं है कि उच्‍चतर ऑक्‍टेन श्रेणी से अधिक पावर या अधिक माइलेज मिले ।

ईंधन के प्रतिपूरक के रूप में ऑक्‍सीजनेट, एशलेस ऑर्गेनिक कंपाउंड (जैसे एल्‍कॉहॉल या एथर) का प्रयोग किया जा सकता है। रिटेल आउटलेटों में मोटर स्पिरिट का प्रयोग किया जाता है जिसे ऑटोमोबाइल टैंक में सीधे ही डाल दिया जाता है ।

भारत सरकार द्वारा लागू राष्‍ट्रीय ऑटो ईंधन नीति के कारण भारत में, उत्‍सर्जन मानक (यूरो - ।।1 और यूरो IV के समकक्ष) बीएस - ।।। एवं बीएस IV ने रिफाइनरियों को पेट्रोल में सल्‍फर की मात्रा को कम करने पर मजबूर कर दिया है। बीआइएस ने देश के चुनिंदा शहरों में बिक्री के लिए ‘5% इथेनॉल के साथ पेट्रोल’ मिश्रण के लिए विनिर्देशन दिए हैं। कुछ चुनिंदा स्‍थानों में पेट्रोल में 10% मिश्रण भी किया जा रहा है ।

हमारे कॉर्पोरेशन द्वारा बेची जानेवाली मोटर स्पिरिट भारतीय मानकों को पूर्ण करती है जिसमें मोटर गैसोलीन और गैसोलीन – ऑक्‍सीजनेट मिश्रण आईएस 2796:2008 (चौथा संस्‍करण) की विशिष्‍टताएं हैं ।

 Filter Paper Test (Petrol), Density Test (Petrol & Diesel), Quantity Check.